20+ Poetry to friend।। Poetry on friend - KBCalong

Poetry to friend।। Poetry on friend

वादा करते है दोस्ती निभाएंगे,
कोशिश यही रहेगी आपको नहीं सतायेंगे.
जरुरत पड़े तो दिल से पुकारना,
किसी और के दिल में होंगे तो भी चले आयेंगे.

20+ Poetry to friend।। Poetry on friend - KBCalong
20+ Poetry to friend।। Poetry on friend - KBCalong

Wada karte hai Dosti nibhayenge,
Koshish yahi rahegi apko nahi satayenge.
Jarurat pade to DIL SE pukarna,
kisi aur ke DIL me honge to bhi chale aayenge.

Poetry to friend।। Poetry on friend

अनजान सी मुलाक़ात पहचान बन गयी,
एक मीठे से रिश्ते की जान बन गयी.
दो कदम तुम चले,दो कदम हम चले
और दोस्ती की राह कितनी आसान बन गयी.

Anjaan Si Mulaqaat Pehchaan Ban Gayi,
Ek Meethe Se Rishte Ki Jaan Ban Gayi.
Do Kadam Tum Chale,Do Kadam Hum Chale
Aur Dosti Ki Raah Kitni Aasaan Ban Gayi.

बिन ख्वाबो के भी क्या कोई सो पाया है,
बिन यादों के भी कोई रो पाया है.
दोस्ती आप की धड़कन है इस दिल की,
दिल भी कभी धड़कन से अलग हो पाया है?

Poetry to friend।। Poetry on friend

Bin khwabo ke bhi kya koi so paya hai,
bin yaadon ke bhi koi ro paya hai.
DOSTI AAP ki dhadkan hai iss DIL ki,
DIL bhi kabhi DHADKAN se alag ho paya hai?

खुदा से कोई बात अंजान नहीं होती,
इन्सान की बंदगी बेईमान नहीं होती.
कही तो माँगा होगा हमने भी एक प्यारा सा दोस्त
वर्ना यूंही हमारी आपसे पहचान न होती.

Khuda se koi baat anjan nahi hoti,
insan ki bandgi beiman nahi hoti.
Kahi to manga hoga humne b ek pyara sa dost
varna uhi humari aapse pehchan na hoti.

Poetry to friend।। Poetry on friend


चाँद अगर रोशन है तो रोशनी आप हो
फूल अगर महका है तो खुसबु आप हो
बर्फ अगर ठंडी है तो ठंडक आप हो
ज़िंदा अगर हम हैं तो ज़िंदगी आप हो

Chand agar roshan hai to roshani aap ho
Phool agar mahaka hai to khusbu aap ho
Barf agar thandi hai to thandak aap ho
Zinda agar ham hain to zindagi aap ho

अधूरा है आस्मा सितारों के बिना.
अधूरा है समुंदर किनारों के बिना.
अधूरी है फ़िज़ा बहारों के बिना.
और अधूरी है ये ज़िंदगी आप जैसे यारों के बिना.

Adhoora hai aasma sitaron ke bina.
Adhoora hai samundar kinaron ke bina.
Adhoori hai fiza baharon ke bina.
Aur adhoori hai ye zindgi aap jaise yaaron ke bina.

Poetry to friend।। Poetry on friend

तेरी आरज़ू मे हमने बहारों को देखा
तेरे ख्यालों मे हमने सितारों को देखा
हमे पसंद था साथ आपका
वरना इन आँखो ने तो हज़ारों को देखा.

Teri arzoo me hamne baharon ko dekha
Tere khyalon me hamne sitaron ko dekha
Hame pasand tha sath apka
Warna in ankho ne to hazaron ko dekha.

दो चीज़ों से बनी है ये दुनिया
थोड़ी हिम्मत थोड़ा दम
दो लम्हों से बनी है ज़िंदगी
थोड़ी खुशी थोड़ा गम
दो चीज़ों से बनी है दोस्ती एक आप एक हम

Do cheejon se bani hai ye duniya
Thodi himmat thoda damm
Do lamhon se bani hai zindgi
Thodi khushi thoda gamm
Do cheejon se bani hai dosti ek aap ek ham

Poetry to friend।। Poetry on friend

नींद टूट गयी पर ख्वाब वही हैं
दूर रहते हैं पर प्यार अभी भी वही है
जानते हैं कि मिल नही सकते अभी
मगर इन आँखो मे इंतज़ार अभी भी वही है.

Neend toot gayi par khwab wahi hain
Door rahate hain par pyar abhi bhi wahi hai
Jaante hain ki mil nahi sakte abhi
Magar in aankho me intazar abhi bhi wahi hai.

READ MORE


Post a Comment

0 Comments